{ads}

बिलासपुर में लाइट काटने से परेशानियों का सामना कर रहे लोग, प्रशासनिक कसावट मे कमी के कारण ठेकेदार कर रहा मनमानी, मौके से कर्मचारी रहते हैं नदारत

 


 बिलासपुर. सिरगिट्टी परिक्षेत्र को निगम का तमगा तो मिल गया. लेकिन अभी भी क्षेत्र के लोग बिजली जैसी मूलभूत समस्या से जूझ रहे हैं. दरअसल पूरा मामला बिजली विभाग का है जहा पर साधारण परिस्थिति, वातावरण में भी लंबे समय से बिजली गुल की समस्या से लोगों को दो-चार होना पड़ रहा है. हद तो तब हो गई जब क्षेत्र में लाइट बंद होने के बाद कार्यालय पर अपनी समस्या को बताने लोग पहुंचे तब मौके पर एक भी कर्मचारी नहीं थे . जिसके कारण लोगों को पूरी रात परेशानी का सामना करना पड़ा.



शनिवार को सिरगिट्टी वार्ड क्रमांक 10 के आदर्श नगर एवं वार्ड क्रमांक 12 नजर लाल पारा बंगाली होटल के पास केबल तार जलने से लगभग 11:00 बजे लाइट बंद हो गई. इसके बाद क्षेत्र के लोगों ने बिजली विभाग के सार्वजनिक नंबर पर फोन कर जानकारी दिया लेकिन सुधार कार्य करने के लिए कोई कर्मचारी मौके पर नहीं आए वही कुछ देर के बाद लगातार फोन कर संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन मोबाइल स्विच ऑफ बताया जा रहा है . मौके पर जब कार्यालय जाकर लोगों ने देखा तो वहां पर कोई कर्मचारी नही था. वहीं कुछ देर बाद बिजली बंद की समस्या धीरे-धीरे पूरे सिरगिट्टी परिक्षेत्र पर फैल गया.

बिजली गुल की समस्या से परेशान आक्रोशित लोगों के द्वारा अपने क्षेत्र मे बिजली की समस्या को कर्मचारियों के द्वारा ठीक नहीं करने एवं कार्यालय से नदारत रहने का आरोप लगाते हुए सिरगिट्टी मे अन्य जगह पर प्रवाहित होने वाले विद्युत को अवरुद्ध कर दिया. जिसके कारण समस्या और भी विकराल हो गई. संपूर्ण सिरगिट्टी क्षेत्र में लाइट बंद होने से आनंन फानन में बड़ी संख्या पर लोग बिजली विभाग के सिरगिट्टी जोन कार्यालय पर पहुंच गए और हो हल्ला मचाने लगे. 

प्रशासनिक कसावट मे कमी के कारण ठेकेदार कर रहा मनमानी, मौके से कर्मचारी रहते हैं नदारत 

सिरगिट्टी जोन बिजली विभाग के अंतर्गत बड़ा परिक्षेत्र आता है जिसमे ग्राम पंचायत कोरमी, बसिया, हरदी, धुमा, लाल खदान, महमंद का होना बताया जाता है. जिसमें रेगुलर कर्मचारियों के अलावा ठेकेदार के कर्मचारी भी कार्य करते हैं. लेकिन इसके बाद भी बिजली गोल होने पर समस्या का समाधान जल्द नहीं किया जाता है. बताया जाता है कि ठेकेदार द्वारा कम कर्मचारी को काम पर रखा जाता है एवं अधिक मुनाफा कमाने के उद्देश्य से मोटी रकम बचाया जा रहा है. दूसरे पहलू पर बात किया जाए तो प्रशासनिक कसावट में कमी होने के कारण ठेकेदार द्वारा मनमानी किया जा रहा है. अगर नियमित रूप से कर्मचारियों की संख्या बढ़ाकर कार्य किया जाए तो बिजली गोल की समस्या होने पर कम समय में सुधार करने से आम जनता को तत्काल राहत मिलेगी. बहर देखने वाली बात होगी कि सिरगिट्टी परिक्षेत्र मे रहने वाले लोगों को बिजली गोल कि समस्या से कब तक राहत मिल पाती है

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.