Ads

हमारे सभी ग्रंथ पुराण एवं वेद यही बताते हैं कि हम सभी को हमारे जो ईष्ट है उनकी उपासना पूजा पाठ करना चाहिए--महाराज संजय कृष्ण "सलिल" जी





 


बिलासपुर.श्रीधाम वृंदावन से पधारे विख्यात कथा वाचक महाराज संजय कृष्ण "सलिल" जी (जिनके श्रीमद् भागवत कथा का प्रसारण टीवी पर भी आता है)के द्वारा श्रीमद् भागवत कथा थोक सब्जी मंडी रोड तिफरा स्थित झूलेलाल मंगलम में दिनांक 8 मई से 14 मई तक प्रतिदिन शाम 4:00 बजे से 7:00 तक वाचक महाराज श्री संजयकृष्ण "सलिल" के श्रीमुख से श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण श्रद्धालु भक्तजनो के द्वारा किया जा रहा है। 


श्री झूलेलाल सेवा समिति झूलेलाल मंगलम के महामंत्री रूपचंद डोडवानी ने जानकारी देते हुए बताया कि... 

श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन

पूज्य सिंधी सेंट्रल पंचायत,श्री झूलेलाल सेवा समिति झूलेलाल मंगलम, सिंधु चेतना, सेंट्रल युवा विंग बिलासपुर, के सहयोग एवं 

नारायण सेवा संस्थान के सहायतार्थ किया जा रहा है।

कथा के प्रमुख यजमान स्वतन्त्र प्रकाश गोस्वामी जी हैं।

 आयोजकों द्वारा सभी धर्म प्रेमी श्रद्धालु भक्तजनों से सविनय आग्रह करती है कि अधिक से अधिक संख्या में पधार कर श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण कर अपने जीवन को सफल बनावे। 

श्रीधाम वृंदावन से पधारे कथावाचक पूज्य डॉक्टर संजय कृष्ण "सलिल"जी ने श्रीमद् भागवत कथा के तृतीय दिवस के अंतर्गत प्रवचन में कहा कि हमारे सभी ग्रंथ पुराण एवं वेद यही बताते हैं कि हम सभी को उपासना करनी चाहिए हमारे जो इष्ट हैं उनकी हम उपासना पूजा पाठ ध्यान करते हैं यह सभी साधना उनके अंग है उपासना का सीधा अर्थ है आगे बढ़ाना हर परिस्थिति में आगे बढ़ाना, 

वासना से उपासना की ओर आगे जाना ,

आगे महाराज जी ने बताया जब साधक सत्कर्म की ओर अग्रसर होता है तो अनेक विघ्न आते हैं जो हमें विचलित करते हैं ऐसे समय में हमारे प्रभु हमारी सहायता के लिए सद्गुरु के रूप में आकर हमें स्थिति से जूझने का मार्ग दिखाते हैं और हमें धकेल कर ठाकुर जी के चरणों तक पहुंचा देते हैं आज की कथा में महाभारत के भीष्म कथा का मार्मिक वर्णन कर भक्तों को भाव विभोर कर अश्रुधारा से ओत-प्रोत कर दिया। की कथा में सर्व धर्म समाज के श्रद्धालु भक्तजन उपस्थित रहे। 


                         

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.