Ads

बाहरी नेताओं को लाना बीजेपी के लिए फायदे से ज्यादा घाटे का सौदा? पढ़ें विश्लेषण

 




भाजपा थोक में कांग्रेसियों को ले रही है,इन्हे एडजस्ट करने में दिक्कत जायेगीक्या यह माना जाए कि भाजपा के पुराने दिग्जजो के दिन लद जायेगे और नया मिला जुला राजनीतिक नेतृत्व उभरकर देश के सामने आएगा, जितने भी कांग्रेसी भाजपा में शामिल हो रहे है अब उनमें होड़ लगेगी कि कोन  खुद को अधिक हिदुवादी साबित करेगा शायद कई दुर्लभ हिंदूवादी नए चेहरे कांग्रेस से निकल कर सामने आ भी सकते है 

आखिरकार हेमंत बिस्वा शरमा जी भी तो कांग्रेस से ही आए थे जो शानदार सेकेंड योगी जी है और जिनका असर  दिखाई दिया, उनके भाषण का ही कमाल है  

    वर्तमान भाजपा का स्वरूप रूप और रंग बदलता जा रहा है परिवारवाद को खत्म करना

पुराने नेताओं विभिन्न पदों से लगातार उपकृत रहे पुराने नेताओं को बदलकर नया परिवर्तन वर्तमान भाजपा में दिखने लगा।

  अन्य राजनीतिक दल क्षेत्रीय राजनीतिक पार्टी विपक्षीय कांग्रेस पार्टी के विवादित नेताओं को भी भाजपा प्रवेश कराकर उपकृत करना भारतीय जनता पार्टी की नई परिपाटी।

  अंत्योदय के सिद्धांत पंडित दीनदयाल श्यामा प्रसाद मुखर्जी के आदर्श अब नेताओं के सिर्फ भाषणों तक ही सीमित रह गये।

     भाजपा मूल स्वरूप से बदलती वर्तमान परिवेश में कांग्रेस के नेताओं को अपने दल में शामिल करने हर संभव प्रयास किए जा रहे कांग्रेस या विपक्षी दलों के वह नेता जो भारतीय जनता पार्टी और उनके सिद्धांतों का पुरजोर विरोध करते रहे ऐसे नेताओं को भाजपा प्रवेश करना क्या भारतीय जनता पार्टी के पास ऐसी कौन सा साबुन है जो इन नेताओं को भाजपा प्रवेश करने पर उनके सारे पाप धुलते नजर आते हैं थोक में कांग्रेसियों को ले रही है,

इन्हे एडजस्ट करने में दिक्कत जायेगी

क्या यह माना जाए कि भाजपा के पुराने दिग्जजो के दिन लद जायेगे और नया मिला जुला राजनीतिक नेतृत्व उभरकर देश के सामने आएगा,

जितने भी कांग्रेसी भाजपा में शामिल हो रहे है अब उनमें होड़ लगेगी कि कोन खुद को अधिक

हिदुवादी साबित करेगा

शायद कई दुर्लभ हिंदूवादी नए चेहरे कांग्रेस से निकल कर सामने आ भी सकते है 

आखिरकार हेमंत बिस्वा शरमा जी भी तो कांग्रेस से ही आए थे जो शानदार सेकेंड योगी जी है और जिनका असर दिखाई दिया, उनके भाषण का ही कमाल है  

    वर्तमान भाजपा का स्वरूप रूप और रंग बदलता जा रहा है परिवारवाद को खत्म करना

पुराने नेताओं विभिन्न पदों से लगातार उपकृत रहे पुराने नेताओं को बदलकर नया परिवर्तन वर्तमान भाजपा में दिखने लगा।

  अन्य राजनीतिक दल क्षेत्रीय राजनीतिक पार्टी विपक्षीय कांग्रेस पार्टी के विवादित नेताओं को भी भाजपा प्रवेश कराकर उपकृत करना भारतीय जनता पार्टी की नई परिपाटी।

  अंत्योदय के सिद्धांत पंडित दीनदयाल श्यामा प्रसाद मुखर्जी के आदर्श अब नेताओं के सिर्फ भाषणों तक ही सीमित रह गये।

     भाजपा मूल स्वरूप से बदलती वर्तमान परिवेश में कांग्रेस के नेताओं को अपने दल में शामिल करने हर संभव प्रयास किए जा रहे कांग्रेस या विपक्षी दलों के वह नेता जो भारतीय जनता पार्टी और उनके सिद्धांतों का पुरजोर विरोध करते रहे ऐसे नेताओं को भाजपा प्रवेश करना क्या भारतीय जनता पार्टी के पास ऐसी कौन सा साबुन है जो इन नेताओं को भाजपा प्रवेश करने पर उनके सारे पाप धुलते नजर आते हैं

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.