Ads

नियम-कानून की धज्जियां उधेड़ रहे अपराधी, शहर में आतंक मचाता रहे आदतन अपराधी

 





बिलासपुर. शहर में ऐसे कई असामाजिक गुंडा तत्व जिला बदर आदतन अपराधी युवाओं को अपनी गिरफ्त में लेकर कर बिलासपुर को बना रहे यूपी बिहार

अवांछित गुंडा तत्व खुलेआम घूम घूम कर शहर में कर रहे रंगदारी ऐसे गुंडे बदमाशों को न पुलिस का डर न प्रशासन का भय

कहीं ना कहीं राजनीतिक संरक्षण नेताओं का संबंध इनके काले कारनामों को बचता रहा है गुंडा तत्व खुलेआम गुंडा एक्ट की धज्जियां उड़ा रहा शहर बिलासपुर आए दिन घटनाओं को अंजाम दे रहे युवाओं को नशे की लत अवांछित कृतियां मादक पदार्थों का सेवन इन सब के पीछे कहीं ना कहीं संरक्षण प्राप्त अपराधी प्रवृत्ति के लोग बेखौफ मजे से अपने काले कारोबार को चल रहे



ऐसा ही एक और मामला बिलासपुर में आया है पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान जिलाबदर किया गया आदतन अपराधी ऋषभ पानीकर शहर में खुलेआम घूमते हुए आतंक मचाना शुरू कर दिया है। इस दौरान उसने एक प्रापर्टी डीलर से वसूली करने की कोशिश की और अपने साथियों के साथ मिलकर जमकर मारपीट की। उसने सरकंडा क्षेत्र में प्रापर्टी डीलर के आफिस में घुसकर अवैध वसूली और मारपीट की। मारपीट से घायल प्रापर्टी डीलर ने इसकी शिकायत सरकंडा थाने में की है। इस पर पुलिस ने आदतन बदमाश और उसके साथियों के खिलाफ अवैध वसूली और मारपीट का मामला दर्ज कर लिया है।

दयालबंद में रहने वाले दिनेश घोरे प्रापर्टी डीलर हैं। उनका सरकंडा क्षेत्र में रहने वाले प्रापर्टी डीलर राघवेंद्र गुप्ता से लेनदेन है। गुरुवार को दिनेश अपने भाई पालू घोरे के साथ राघवेंद्र गुप्ता से मिलने के लिए उसके आफिस आए थे। वे आपस में लेनदेन की बात कर रहे थे। इसी दौरान दयालबंद में रहने वाला आदतन बदमाश ऋषभ पानीकर, उसका भाई वासू पानीकर, साथी रोहन, दीपक और अन्य लोग वहां आएं।

उन्होंने राघवेंद्र से जमीन बिक्री के रुपये मांगे। वहां पर बैठे दिनेश ने राघवेंद्र को रुपये देने से मना कर दिया। इसी बात को लेकर ऋषभ पानीकर और उसके साथियों ने दिनेश को जान से मारने की धमकी देकर पिटाई शुरू कर दी। मारपीट के बीच पालू और राघवेंद्र ने किसी तरह बीच-बचाव किया। इसके बाद घायल दिनेश ने घटना की शिकायत सरकंडा थाने में की है। इस पर पुलिस ने अवैध वसूली और मारपीट की धाराओं में जुर्म दर्ज कर मामले को जांच में लिया है।


कोतवाली थाने में दर्ज है कई मामले

आरोपित ऋषभ पानीकर के खिलाफ कोतवाली थाने में अवैध वसूली के लिए धमकाने और मारपीट के मामले दर्ज हैं। पुलिस ने एक मामले में उसकी गिरफ्तारी कर न्यायालय में भी पेश किया था। इसके बाद उसे पर जिलाबदर की कार्रवाई हुई थी। लेकिन, जिलाबदर की अवधि में वह शहर में घूम रहा और रंगदारी शुरू कर दिया। अब वह कैसे जिलाबदर अवधि में शहर पहुंचा, यह एक बड़ा सवाल है।


मारपीट से पहले का वीडियो हुआ प्रसारित-

इस रंगदारी के कुछ वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। हालांकि, ये वीडियो कुछ ही सेकेंड के हैं। इसमें आदतन अपराधी ऋषभ अपने साथियों के साथ सोफे पर बैठा दिख रहा है, साथ ही एक वीडियो में उसके ही साथी हंगामा मचाते दिख रहे। सूत्रों की माने तो सरकंडा पुलिस ने देर रात ऋषभ को हिरासत में ले लिया है, लेकिन उसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।

नियम-कानून की धज्जियां उधेड़ रहे अपराधी-


जिलाबदर के दौरान ऋषभ पानीकर शहर में घूम रहा था, लेकिन इसकी भनक किसी को नहीं लगी। वह कब से शहर में है, इसकी कोई जानकारी नहीं है। इस दौरान वह अपने साथियों के साथ मिलकर शहर में रंगदारी करते हुए नियम-कानून को ठेंगा दिखाते रहा।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.