Ads

उत्तरप्रदेश बीजेपी के नेता के वीडियो वायरल होने से मची सनसनी, लोकसभा चुनाव से वापस लिया नाम, जानें पूरा मामला

 




भाजपा सांसद उपेंद्र सिंह रावत को दोबारा टिकट मिलने के 24 घंटे के अंदर अश्लील वीडियो प्रसारित हो रहा है। इसे सांसद के निजी सचिव दिनेश रावत ने सांसद की राजनीतिक छवि खराब किए जाने की साजिश का हिस्सा बताते हुए नगर कोतवाली में अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध मुकदमा लिखाया है। निजी सचिव का कहना है कि एडिट करके वीडियो प्रसारित किया जा रहा है।

तेजी से प्रसारित हो रहा वीडियो गांव-गलियों तक देखा जा रहा है। लोग एक-दूसरे को वीडियो दिखाकर तरह-तरह की बातें कर रहे हैं। प्रसारित वीडियो में सांसद अलग-अलग तिथियों में होटल के कमरे में महिलाओं के साथ अश्लील हरकत करते दिखाई दे रहे हैं। सात वीडियो क्लिप हैं, प्रत्येक की समय सीमा पांच मिनट एक सेकेंड है।




ऐसा प्रतीत हो रहा है कि वीडियो सीसी कैमरा से बनाए गए हैं। पहले वीडियो के बैक ग्राउंड से डीजे के साथ गाने की आवाज भी आ रही है। इससे लगता है कि कोई ऐसा स्थान है, जहां मांगलिक कार्यक्रम चल रहा है।

इस संबंध में सांसद उपेंद्र सिंह रावत के मोबाइल पर बात करने की कोशिश की गई, लेकिन उनका मोबाइल फोन बंद था। मैसेज से भी उनका पक्ष जानने का प्रयास किया गया, लेकिन कोई उत्तर नहीं मिला। नगर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक अजय कुमार त्रिपाठी का कहना है कि आइटी एक्ट की धाराओं में मुकदमा लिखकर जांच शुरू की जा रही है।

छवि की जा रही धूमिल : सांसद के निजी सचिव दिनेश चंद्र रावत ने नगर कोतवाली में दी गई तहरीर में कहा है कि सांसद की छवि धूमिल करने क लिए इंटरनेट मीडिया पर सांसद के विरुद्ध आपत्तिजनक वीडियो प्रसारित किया जा रहा है, जो एडिटेड वीडियो हैं। वीडियो प्रसारित करने वालों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत करें।


राजनीतिक षड्यंत्र है : भाजपा जिलाध्यक्ष अरविंद कुमार मौर्य ने कहा कि वीडियो वायरल किया जाना सांसद उपेंद्र सिंह रावत के विरुद्ध राजनीतिक षड्यंत्र है। दोबारा टिकट मिलने से इनके विपक्षी व प्रतिद्वंदी बौखला गए हैं। इस षड्यंत्र का जवाब जिले की जनता देगी। बच्चा-बच्चा सांसद के कार्य व व्यवहार से परिचित है।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.