{ads}

बृहस्पति बाजार का नया ठिकाना मिशन स्कूल, मार्केट निर्माण तक सब्जी वालों के लिए निगम की कार्य योजना तैयार

 








बिलासपुर। बृहस्पति बाजार में आचार संहिता के बाद यहां मल्टी लेवल सब्जी बाजार बनाने का काम शुरू करने के लिए नगर निगम तैयारी शुरू कर रहा है। सब्जी मार्केट जब तक बनकर पूरा नहीं होता, तब तक सब्जी विक्रेताओं को मिशन स्कूल के मैदान में जगह दी जाएगी। इसके लिए भी प्लान और नक्शा तैयार कर लिया गया है।


मार्केट के लिए टेंडर आवेदन प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। आचार संहिता खत्म होने के बाद ठेका प्रक्रिया पूरी कर वर्क ऑर्डर जारी किया जाएगा। 13.39 करोड़ की इस योजना के अंतर्गत बनाए जा रहे कॉम्प्लेक्स में चिल्हर और थोक सब्जी विक्रेताओं के लिए एक साथ व्यवस्था की जाएगी। निगम अधिकारियों का कहना है कि वतर्मान में 288 सब्जी विक्रेताओं की लिस्ट तैयार की गई है, जो यहां सब्जी बेचते हैं। इनको ही चबूतरे और दुकान का आवंटन किया जाएगा। बाहरी व्यक्ति को दुकान देने का सवाल ही नहीं है। इस संबन्ध में सब्जी विक्रेताओं से चर्चा कर उनकी शंका का समाधान भी किया जाएगा।

वर्तमान में इस बाजार में लगभग 218 चबूतरे और 35  दुकानें हैं। साथ ही 70 से ज्यादा लोग किनारे बैठकर या ठेलों में सब्जी और फल का व्यवसाय करते हैं। यहां पार्किंग की व्यवस्था न होने से भीड़ बढ़ने पर सड़क जाम होती है। इससे दुकानदारों और खरीदारों दोनों को ही परेशानी होती है। मल्टी लेवल सब्जी मार्केट के बेसमेंट में पार्किंग व्यवस्था रहेगी। इससे सड़क जाम की समस्या खत्म होगी। प्रथम तल पर सब्जी विक्रेताओं के लिए 242 चबूतरे और द्वितीय तल पर थोक सब्जी विक्रेताओं के लिए 66 दुकानें रहेंगी।

बृहस्पति बाजार शहर का प्रमुख सब्जी बाजार है। यहां सुबह से भीड़ लग जाती है। पार्किंग की व्यवस्था नहीं होने के कारण सड़क पर ही वाहन खड़े किए जाते हैं। सब्जी-फलवालों के ठेले भी सड़क को घेर लेते हैं। छत्तीसगढ़ स्कूल चौक से मिशन स्कूल और देवकीनंदन चौक तक फलों के ठेले लगते हैं। मल्टी लेवल बाजार बन जाने के बाद इन फल वालों को भी स्थाई जगह मिल सकेगी। इससे सड़क पर कब्जा समाप्त होगा और सड़क चौड़ी होने से जाम की समस्या नहीं रहेगी।

मार्केट के निर्माण के दौरान बाजार मिशन स्कूल परिसर के मैदान का उपयोग किया जाएगा। यह मैदान अभी उपयोग में नहीं है। निगम अधिकारियों के अनुसार कुछ शर्तों के अधीन स्कूल प्रबंधन बाजार की अनुमति देने को तैयार है। स्कूल डिस्टर्ब न हो, इसलिए परिसर में प्रवेश और निकासी की अलग व्यवस्था की जाएगी। बगल के नाले के ऊपर बने रोड से आने जाने की व्यवस्था रहेगी।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.